रतलाम जिले में बनेगा आदिवासी महापुरुषों का राट्रीय स्तर का स्मारक।

आदिवासी क्रांति वीरो का राष्ट्रिय स्तर का स्मारक रतलाम जिले में स्थापित करने हेतु जमीन का अवलोकन आदिवासी एकता परिषद् के पदाधिकारीगण श्री राजेंद्र बारिया(महासचिव) म.प्र., डॉ.अभय ओहरी, श्री सूरत लाल डामर, श्री के.एस. डामोर, मानसिंह, एवं साथीगण द्वारा किया गया। श्री राजेंद्र बारिया जी ने बताया की आदिवासी वीर क्रांतिकारियों के इस स्मारक में आदिवासी संस्कृति के कुछ अनछुए पहलुओं को जो की विलुप्त हो चुके हैं उन्हें फिर से संजोकर जीवित करने का प्रयास किया जायेंगा। आज के बदलते माहोल में हमारे आदिवासी साथी हमारी संस्कृति को भूलते जा रहे हैं। ऐसे में जरुरी है की उन्हें इस बात का ज्ञान हो की आदिवासी महापुरुषों द्वारा स्वतंत्रा संग्राम व इतिहास के पन्नों में कितना मूल्यवान योगदान दिया गया हैं। जिसे हमेशा से नज़र अंदाज़ किया गया हैं। डॉ. अभय ओहरी के अनुसार इस स्मारक के बनने से युवाओं को आदिवासी संस्कृति समझने और जानने का अच्छा मौका मिलेगा।
डॉ. के. एस. डामोर व सूरत लाल डामर ने बताया की इस स्मारक को बनाने का उद्देश्य है की ज्यादा से ज्यादा आदिवासी साथियों को जोड़ा जाये। और हमारी संस्कृति से अवगत कराया जाएँ। इस स्मारक के माध्यम से आदिवासियों से जुडी हर जानकारी को उपलब्ध कराया जायेगा।